तैराकी का हुनर भी नहीं बचा पाया जान , यमुना में नहाने उतरे तीन किशोर डूबे, नदी के गहरे कुंड में फंसने से मौत

  • सीमा को लेकर विवाद में उलझी रही यूपी व हरियाणा पुलिस, कारवाई में हुई देरी                                            

     विलेज ईरा। राजेंद्र कुमार                                                                                                                                 यमुनानगर। हरियाणा के यमुनानगर में यूपी बॉर्डर स्थित गांव ढिक्का टपरी के पास वीरवार दोपहर यमुना नदी में नहाने उतरे तीन किशोर डूब गए। (Three-teenagers-drowned-while-bathing-in-Yamuna) राहगीरों ने बच्चों को डूबते हुए देखा तो इसकी जानकारी ढिक्का गांव में दी। इसके बाद कई गोताखोर मौके पर पहुंचे और किशोरों को बचाने के लिए नदी में छलांग लगा दी, लेकिन उनकी कोशिश नाकाम रही और बच्चे यमुना के गहरे कुंड में फंस गए। करीब चार घंटे की मशक्कत के बाद शाम को चार बजे गोताखोर बच्चों के शव को ढूंढने में कामयाब रहे। तब तक बच्चों के परिजन भी मौके पर पहुंच चुके थे। परिजन उन्हें यमुना पार करके नाहरपुर गांव के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर आएं, जहां डॉक्टरों ने तीनों बच्चों को मृत घोषित कर दिया। मृतकों में नाहरपुर निवासी 15 वर्षीय हैप्पी, बरहेड़ी गांव का 15 वर्षीय विशेष और सारण गांव का 16 वर्षीय राहुल शामिल हैं। पुलिस ने तीनों बच्चों का शव बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी भिजवाया। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौप दिए गए हैं। यहां पर दो प्रदेशों की सीमा को लेकर भी पुलिस काफी देर तक उलझी रही जिस कारण कार्रवाई में देरी हुई। बताया जा रहा है कि यमुनानगर के ढिक्का टपरी में नाहरपुर गांव का रहने वाला 14 वर्षीय हैप्पी नदी पर नहाने के लिए गया। उसके साथ रिश्तेदारी में आए हुए सारण गांव का 17 वर्षीय राहुल और बरहेड़ी गांव का 14 वर्षीय विशेष भी नहाने के लिए नदी पर गए। तीनों बच्चे दोपहर में घर से निकले थे। जब वो नदी में उतरे तो अचानक ही वे डूबने लगे। आसपास मौजूद लोगों ने उन्हे बचाने का प्रयास किया और ग्रामीण नदी में उतरे लेकिन तब तक तीनों की मौत हो चुकी थी जिसके बाद पुलिस को सूचित किया गया। लेकिन ये हादसा हरियाणा और उत्तर प्रदेश की सीमा पर होने की वजह से पुलिस के लिए मुसीबत बन गया। सीमा के बीचों-बीच इन तीनों बच्चों की मौत हुई। जिसके बाद शवों को पोस्टमार्टम के लिए ले जाने में देरी हुई। जसके बाद उत्तर प्रदेश की सरसावा थाना पुलिस मौके पर पहुंची और यमुनानगर की मोर्चरी में पहुंचकर शवों का पोस्टमार्टम करवा शुक्रवार सुबह परिजनों को सौंप दिया। जठलाना थाना प्रभारी धर्मपाल ने बताया कि ढिक्का गांव उत्तर प्रदेश में पड़ता है। मामले को लेकर सरसावा पुलिस कार्रवाई कर रही है। 

परिजन बोले, मृतक तीनों किशोर जानते थे तैरना                                                                                                    वहीं मामले में परिजनों का कहना था कि तीनों ही किशोरों को तैरना आता था और रोजाना नदी पर नहाने जाते थे लेकिन कल अचानक तीनों नदी में डूब गए, जिसके बाद उन्हें तीनों की मौत की सूचना मिली।

सरसावा पुलिस ने करवाया पोस्टमार्टम                                                                                                                   सीमा पर घटना होने की वजह से मामले में कार्रवाई में बहुत देरी हुई। क्योंकि ग्रामीणों ने इस घटना की सूचना यमुनानगर की जठलाना थाना पुलिस को दी। पुलिस मौके पर भी पहुंची लेकिन उन्होने फिर सरसावा पुलिस को सूचित किया। जिसके बाद मामले में कार्रवाई करने सरसावा पुलिस पहुंची। फिलहाल सरसावा पुलिस ने तीनों शवों का पोस्टमार्टम करवा मामले में कार्रवाई शुरू कर दी है।

गाँवों की धड़कन विलेज ईरा समाचार पत्र को पढ़ने के लिए जल्दी से लोगिन करें

https://www.villageera.in/

विलेज ईरा के फेसबुक पेज को लाईक व फोलो करने के लिए नीचे दिए लिंक पर करें क्लिक

https://www.facebook.com/www.villageera.in/                                                                                                                                                                                                                                                               विलेज ईरा के फेसबुक ग्रुप से जुड़ने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक कर करें ज्वाईन

https://www.facebook.com/groups/villageeramagazine

विलेज ईरा से ट्विटर पर जुड़ें 

 https://twitter.com/VillageEra


Post a Comment

0 Comments